माँ है प्रीत, माँ है मीत, नेह का सागर माँ ही है,
माँ है प्रकाश, माँ है आकाश, जीवन की भोर माँ ही है।

राजपुरा: स्काॅलर्ज़ पब्लिक स्कूल, राजपुरा में मातृ दिवस के अवसर पर समारोह का आयोजन किया गया। समारोह का आरंभ माननीय मुख्य अतिथि श्री श्री गुरूदेव स्वामी श्री प्रदीप कौशल महाराज जी ने दीप प्रज्जवलित करके किया।

मदर्स डे के उपलक्ष्य में स्काॅलर्ज़ पब्लिक स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें स्कूल के बच्चों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। इस अवसर पर बच्चे सुबह से ही उत्साहित थे। Head Girl & Head Boy द्वारा माताओं का तिलक लगाकर स्वागत किया। विभिन्न नृत्यों तथा गायन द्वारा विद्यार्थियों ने उनके जीवन में माँ का स्थान तथा उसकी विशिष्टता से अवगत करवाया।

स्कूल के नन्हे-मुन्ने छात्रों ने ‘‘तू कितनी अच्छी है’’, ‘‘अच्छी-अच्छी मम्मी, प्यारी-प्यारी मम्मी’’ तथा ‘‘पास बुलाती है’’, ‘‘मावाँ मावाँ मावाँ माँ जन्नत दा परछावाँ’’ व ‘‘तिन रंग नहीं लभणे’’, ‘‘किवें तेरा शुक्र करां’’, ‘‘ओ माँ जब से देखी दुनिया’’, ‘‘ऊँगली पकड़ के फिर से सीखा दे’’, “Holiday” आदि गीतों पर विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत नृत्य ने सब के दिलों को भाव-विभोर कर दिया तथा माँ के प्रति अपने कर्तव्यों को सोचने पर मजबूर कर दिया। बारहवीं तथा दसवीं कक्षा के प्रथम स्थान पर आए विद्यार्थियों के माताओं को भी इस अवसर पर फूलों के हार व स्मृति-चिन्ह् देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर माता-पिता अपने नन्हें बच्चों की भावनाओं की प्रस्तुति देखकर प्रसन्नता से फूले नहीं समा रहे थे। स्कूल की प्रिंसीपल श्रीमती सुदेश जोशी जी ने माँ का महत्व बताते हुए कहाकि हर व्यक्ति की सफलता के पीछे उसकी माँ के त्याग तथा उचित देखभाल का बहुत बड़ा हाथ होता है उन्होंने सभी को माता-पिता के प्रति कृतज्ञ होने के लिए प्रेरित किया और अपने भाषण द्वारा स्कूल की सालाना उपलब्धियों से अवगत कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here