चंडीगढ़ : पंजाब में आगामी लोकसभा चुनाव अकाली दल और भाजपा गठजोड़ अपनी पुरानी सीटों पर ही लड़ेगा।पिछले चुनाव में पंजाब की 13 लोकसभा सीटों में से 10 सीटों पर अकाली दल और 3 सीटों पर भाजपा ने चुनाव लड़ा था।

पंजाब में लोकसभा चुनावों के प्रभारी व हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने वीरवार को पत्रकारों के साथ बातचीत में इस बात को स्पष्ट किया कि फिलहाल सीट बटवारे को लेकर किसी तरह की कोई भी बातचीत नहीं चल रही। अलबत्ता पार्टी ने ऐसे संकेत दिए हैं कि लोकसभा चुनावों के लिए योग्य उम्मीदवारों की तलाश का सर्वेक्षण शुरू हो चुका है , परंतु पार्टी अपने लोकसभा चुनाव प्रत्याशियों के नाम, चुनावों की घोषणा के बाद ही घोषित करेगी।

कैप्टन अभिमन्यु ने पत्रकारों के साथ अपनी पहली कान्फ्रेंस में दावा किया कि पंजाब में अकाली दल -भाजपा गठजोड़ राज्य की सभी 13 सीटों पर विजय प्राप्त करेगा । इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार की साढे चार वर्ष की उपलब्धियों का विवरण दिया। राजनीति में परिवारवाद की बात पर उन्होंने अकाली दल के परिवारवाद से यह कहते हुए दूरी बना ली के अकाली दल एक अलग पार्टी है, वह सिर्फ भाजपा की बात ही कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पंजाब में करवाए अनेकों विकास कार्य , करतारपुर गलियारा , 1984 के सिख विरोधी दंगों के दोषियों को सजाएं इत्यादि ऐसे मामले हैं, जो पंजाब में अकाली दल और भाजपा को विजयी बनाने में सहयोग देंगे।

उन्होंने सतलुज यमुना लिंक नहर पर कुछ भी बोलने से किनारा कर लिया और कहा कि संसदीय चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़े जाएंगे। इस अवसर पर उनके साथ पंजाब भाजपा के अध्यक्ष व राज्य सभा सदस्य श्वेत मलिक भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here