Panaji: BJP President Amit Shah address BJP supporters in Panaji, Goa on Saturday. PTI Photo(PTI8_20_2016_000228A)

जयपुर: विधानसभा चुनाव की रणनीति तैयार करने में भाजपा के तुरुप का इक्का माने जाने वाले पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह फिर राजस्थान आ रहे हैं। इस बार वे राजस्थान की राजधानी जयपुर में 11 सितम्बर को साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर जीत का मंत्र फूंककर जाएंगे। दौरे के दौरान अमित शाह बैक-टू-बैक कार्यक्रम करेंगे। वे जयपुर संभाग शक्ति केन्द्र प्रमुख के साथ बैठक, सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रादेशिक पदाधिकारियों से मुलाकात व नगर निगम/नगर निकाय जनप्रतिनिधि से चर्चा करेंगे तथा प्रबुद्धजन सम्मेलन में शामिल होंगे। इससे पूर्व वे पिछले महीने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की राजस्थान गौरव यात्रा को हरी झंडी दिखाने राजस्थान आए थे और सभा को भी सम्बोधित किया था।

भाजपा सूत्रों के अनुसार आने वाले दिनों में अमित शाह के दौरों की संख्या और भी बढ़ेगी। राजस्थान में भाजपा और कंग्रेस के बीच चुनावी घमासान छिड़ा हुआ है। दोनों एक दूसरे पर जमकर वार कर रहे हैं।

इस बीच प्रदेश नेतृत्व ने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए अमित शाह के दौरे की तैयारी शुरू कर दी है। इस तेज होते चुनावी माहौल में अमित शाह 11 सितम्बर को जयपुर पहुंचेंगे। वे यहां एक ही दिन में चार कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। इस दौरान वे बीजेपी राजस्थान की चुनावी रणनीति को जांचेंगे, राजस्थान गौरव यात्रा के हो रहे विरोध को भी समझेंगे, पदाधिकारियों व भाजपा नेताओं को चुनावों को लेकर मार्गदर्शन देंगे और कार्यकर्ता में भी जोश भरेंगे। अमित शाह के दौरे को लेकर भाजपा मुख्यालय में बैठकों का दौर शुरू हो गया है। संगठन ने उनके दौरा सफल बनाने के लिए तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। लोकसभा चुनाव की तैयारी राज्यों से राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि विधानसभा चुनाव के परिणाम अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में असर डाल सकते हैं। इस कारण अमित शाह नहीं चाहते कि विधानसभा में परिणाम भाजपा के खिलाफ आएं।

उनके अनुसार अमित शाह राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से ही अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी करना चाहते हैं। इससे नींव मजबूत होगी। इस कारण भाजपा के लिए अमित शाह का दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। हाल ही राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को राजस्थान गौरव यात्रा के दौरान विरोध का सामना करना पड़ा। भाजपा को आशंका है कि ये विरोध विधानसभा और लोकसभा चुनाव दोनों पर असर डाल सकता है।

ये रहेंगे 11 सितम्बर को अमित शाह के कार्यक्रम

  • जयपुर संभाग शक्ति केन्द्र प्रमुख के साथ बैठक – एसएमएस इंवेस्टमेंट ग्राउंड,
  • अंबेडकर सर्किल सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रादेशिक पदाधिकारियों से मुलाकात-
  • बिडला आडिटोरियम नगर निगम/नगर निकाय जनप्रतिनिधि से चर्चा-
  • अंबेडकर सर्किल प्रबुद्धजन सम्मेलन- बिड़ला आडिटोरियम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here