भाजपा-अकाली सीट से नरिन्द्र नागपाल, कांग्रेस के नरिन्द्र शास्त्री और आम आदमी पार्टी से उम्मीदवार का नाम नहीं हुआ घोषित




राजपुरा : कई महीनों से नगर कौंसिल राजपुरा के प्रधान पद की कुर्सी खाली पड़ी है और फ़िलहाल नगर कौंसिल के नवनियुक्त उपप्रधान अमनदीप सिंह नागी नगर कौंसिल की भागदौड़ संभाल रहे है। वार्ड नंबर 9 से आजाद उम्मीदवार एडवोकेट राकेश मेहता ने किसी कारणवश अपने पार्षदपद से कांग्रेस में ज्वाइन करने के तुरंत बाद इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफा देने का मुख्य कारण क्या था, इसका खुलासा खुलकर नहीं हो पाया है। लेकिन ये उम्मीदें जताई जा रही है कि वार्ड नंबर 9 का विजेता ही नगर कौंसिल की प्रधानपद की कुर्सी पर बैठेगा। कांग्रेस के नरिन्द्र शास्त्री और अकाली भाजपा के नरिन्द्र नागपाल दोनों ही नगर कौंसिल के चुनावों में हार का मुँह देख चुके है। कांग्रेस के नरिंदर शास्त्री वार्ड नंबर 10 से चुनाव लड़े और मनदीप सिंह (डिम्पी राणा) से हार गए। और अकाली भाजपा के नरिंदर नागपाल वार्ड नंबर 9 से चुनाव लड़े और एडवोकेट राकेश मेहता से हार गए।
 
दोनों ही उम्मीदवार अपनी अपनी पार्टी से प्रधानपद का ओहदा संभाल कर बैठे है। मौजूदा समय में नरिंदर शास्री ब्लॉक कांग्रेस के शहरी प्रधान है और नरिंदर नागपाल भाजपा के जिला प्रधान। सूत्रों पर यकीन किया जाये तो ये दोनों ही अपनी अपनी पार्टियों के लिए दिग्गज है और पार्टियों के प्रधान होने के बावजूद भी नगर कौंसिल राजपुरा की प्रधान की चमकती हुई कुर्सी के लिए चुनाव मैदान में उत्तर रहे है। दोनों ही कौंसिल चुनावों में हार का मुँह देख चुके है और आने वाले चुनाव इनके मान सम्मान का फैसला कर सकते है।
 
एक्शन पंजाब वेब न्यूज़ चेंनल के माध्यम से वार्डवासियों ने एक विचार रखा था कि आने वाले चुनावों से पहले वार्ड नंबर 9 में खड़े होने वाले उम्मीदवारों के साथ एक लाईव चर्चा होनी चाहिए, जिसमें खड़े होने वाले उम्मीदवारों से वार्ड वासी कुछ सवाल जवाब करने की इच्छा जता रहे है। एक्शन पंजाब द्वारा कई बार खड़े होने वाले उम्मीदवारों से टाइम लेने की कोशिश की, जिसमे प्रधान की कुर्सी पर बैठने की इच्छा जताने वाले दिग्गजों में जनता के सवालों का जवाब देने की ताकत ना दिखाते हुए, एक्शन पंजाब के स्टूडियो में ना आने के बहाने भी सोच रखे है।
 
बाकि जनता ही फैसला करेगी कि जो जनता के सवालों के जवाब देने से इतना घबरा रहे है, वो जीतने के बाद जनता के साथ क्या करेंगे? क्योंकि वार्ड नंबर 9 के वासियों के साथ पहले भी विश्वासघात हो चूका है। कहावत है ना “दूध का जला हुआ, पानी भी फुक फुक कर पीता है”
 
Be Alert Ward number 9

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here